प्री-टेस्ट है यह उपचुनाव

अजमेर लोकसभा सीट रामस्वरूप लाम्बा के लिए उतना ही महत्वपूर्ण है जितना भाजपा के लिए। पार्टी ने प्रो. जाट की विरासत लाम्बा को सौंप तो दी लेकिन उस पर जनता का मुहर अभी शेष है।
– जय एस. चौहान –
इस वर्ष की शुरुआती पखवाड़े में ही चुनावी परचम लहराने लगा हैं। यही परचम बीच के कुछ महीनों के बाद फिर आखिरी महीनों में लहराएंगे। ऐसे में यह उपचुनाव कई मायनों में अहम है। अहम इसलिए कि इस चुनाव परिणाम के कई मायने निहित हैं।

गोया यह कि इस उपचुनाव को राज्य व प्रदेश की सरकार का लेखा-जोखा करने का प्री-टेस्ट माना जाए तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगा। जाहिर है, सियासी बिसात पर जो इस प्री-टेस्ट में पास होगा वही ‘मेन एग्जाम’ बैठने का हकदार भी होगा।

यह प्री-टेस्ट सामान्य कार्यकर्ताओं से लेकर वरिष्ठ पदाधिकारियों तक के लिए लिटमस-टेस्ट की तरह साबित होगा। पार्टी कोई भी हो, तय मानें ‘पैटर्न’ एक-सा ही रहेगा। चूंकि राज्य व केन्द्र में भाजपा की सरकार है, ऐसे में उपचुनावों के परिणाम प्रदेश की राजनीति को कई मायनों में प्रभावित कर सकता है।

इन उपचुनावों में भी अजमेर लोकसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव काफी अहम माना जा रहा है। यह सीट पूर्व केन्द्रीय मंत्री व सांसद प्रो. सांवरलाल जाट के निधन के बाद रिक्त हुआ था। भाजपा ने प्रो. जाट के जन्मदिवस पर उनके पैतृक गांव में हुए रक्तदान शिविर में अजमेर लोकसभा उपचुनाव की बिसात सजा दी थी।

प्रो. जाट के पुत्र लाम्बा को टिकट दिया जाना तय माना जाने लगा था। लोगों के कयास सच साबित हुए। अजमेर लोकसभा सीट रामस्वरूप लाम्बा के लिए उतना ही महत्वपूर्ण है जितना भाजपा के लिए। पार्टी ने प्रो. जाट की विरासत लाम्बा को सौंप तो दी लेकिन उस पर जनता का मुहर अभी शेष है।

उपचुनाव का परिणाम लाम्बा के राजनीतिक सफर की दिशा भी तय करेगा। इसी तरह कांग्रेस प्रत्याशी रघु शर्मा के लिए यह उपचुनाव काफी महत्व रखता है। गत लोकसभा चुनाव से लेकर इस उपचुनाव तक बनास में कितना पानी बहा, इसका हिसाब तो नहीं, पर सामाजिक स्तर पर तेजी से हो रहे ध्रूवीकरण से कौन इनकार कर सकता है।

सर्दी तो आज भी है और सात-आठ महीने बाद भी होगी, जब राज्य विधानसभा चुनाव की जोर-आजमाइश अंतिम चरण में होगी। राज्य सरकार के लिए यही बीच का समय है। आपकी तरह हम-सब को इंतजार है, इस परिणाम से उस परिणाम का।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar