दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत का निराशाजनक प्रदर्शन

जोहानसबर्ग। भारत का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ निराशाजनक प्रदर्शन तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन भी जारी रहा और बुधवार को उसकी पूरी टीम अपनी पहली पारी में 77 आेवर में 187 रन पर ढेर हो गई।

भारत ने चायकाल तक 114 रन पर चार विकेट गंवाए थे और तीसरे सत्र में उसने 73 रन और जोड़ कर अपने आखिरी के छह विकेट गंवा दिये। भारत ने चायकाल के बाद 144 के स्कोर पर श्रीमान भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (50) का विकेट गंवा दिया। भारत ने 144 के स्कोर पर ही विकेटकीपर पार्थिव पटेल ने (2) और हार्दिक पांड्या (0) के विकेट भी गंवाए।

पुजारा ने अपना खाता खोलने के लिए 54 गेंदों का सहारा लिया। इसके साथ पुजारा दूसरे ऐसे भारतीय बन गए जिन्होंने टेस्ट में सबसे अधिक गेंदें खेलने के बाद अपना खाता खोला। पुजारा से पहले राजेश चौहान ने 1994 में श्रीलंका के खिलाफ 57 गेंदें खेलने के बाद खाता खोला था।

पुजारा ने 173 गेंदों पर जाकर अपना अर्धशतक पूरा किया। पुजारा का सीरीज में यह पहला संघर्षपूर्ण अर्धशतक है। उन्होंने 179 गेंदों पर आठ चौकों की मदद से 50 रन बनाए। पुजारा ने इससे पहले दो मैचों में 26, 4, 0, 19 रन बनाए थे। पुजारा के अलावा विकेटकीपर पार्थिव पटेल ने 2, हार्दिक पांड्या ने 0, मोहम्मद शमी ने 8, इशांत शर्मा ने 0 और जसप्रीत बुमराह ने 0 रन बनाए।

भारत का नौंवां विकेट 166 के ही स्कोर पर गिर चुका था। लेकिन भुवनेश्वर कुमार ने 30 रन की साहसिक पारी खेलकर भारत को 187 के स्काेर तक पहुंचा दिया। भुवनेश्वर ने 49 गेंदों पर 30 रन में चार चौके लगाए। कैगिसो रबादा ने भुवनेश्वर को आंदिले फेलुकवायो के हाथों कैच कराकर भारत की पहली पारी 187 रन पर समेट दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar