नाला निर्माण में सुस्ती

  • Devendra
  • 23/05/2024
  • Comments Off on नाला निर्माण में सुस्ती

एक करोड़ 15 लाख रुपए की लागत से बस स्टैंड होते हुए शास्त्रीनगर पुलिया तक 1500 मीटर लम्बा बनने वाला नाला अब तक अधूरा है। निर्माण कार्य में सुस्ती और मानसून की आहट ने आमजनों की चिंता बढ़ा दी है। पढ़ें खारीतट संदेश की यह रिपोर्ट….
बिजयनगर। ‘नौ दिन चले अढ़ाई कोस’ कुछ इसी तरह का काम पालिका प्रशासन की ओर से बनाए जा रहे 1500 मीटर लम्बे बड़े नाले के साथ हो रहा है। एक करोड़ 15 लाख रुपए के लागत से बनने वाले इस नाले का निर्माण कार्य दिसम्बर 2023 में ही पूरा हो जाना चाहिए था, लेकिन कछुआ चाल से चल रहे निर्माण के चलते कार्य अधूरा है। पालिका प्रशासन द्वारा 20 सितम्बर 2023 में उक्त नाले निर्माण का वर्क आर्डर दिया गया था, जिसमें दिसम्बर 2023 तक नाला का निर्माण कार्य पूर्ण हो जाना चाहिए था। लेकिन तकनीकी समस्याओं, आयोजन स्थलों पर बुकिंगों के चलते निर्माण कार्य में तकरीबन डेढ़ माह से ज्यादा की लेटलतीफी बनी रही जिससे निर्माण कार्य अब तक पूरा नहीं हो सका। हालांकि निर्माण कार्य में जुटी कंस्ट्रक्शन कम्पनियों के संचालकों ने आचार संहिता का हवाला देते हुए निर्माण कार्य का समय दायरा बढ़ाए जाने की बात कही, लेकिन विभागीय जानकारी में ऐसे कोई सूचना नहीं मिली। ऐसे में दिसम्बर में बनकर तैयार होने वाला नाला पांच माह बाद तक तैयार नहीं हुआ। अगले महीने ही मानसून दस्तक दे देगा, ऐसे में नाला निर्माण पूर्ण नहीं होने से लोगों की चिंता बढ़ी हुई है।

मानसून सिर पर शीघ्र पूरा हो नाले का निर्माण
क्षेत्रवासियों ने बताया कि बारिश के मौसम में होने वाले जल-जमाव से मुक्ति पाने के लिए ही इस नाले का निर्माण कार्य शुरू हुआ था, लेकिन बीच-बीच में काम बंद होने की वजह से नाला तय समय सीमा में पूरा नहीं हो पाया, आगामी दिनों में प्री-मानसूनी बारिश की हलचले शुरू हो जाएंगी। ऐसे में जितना शीघ्र हो इस नाले का निर्माण कार्य पूरा होना आवश्यक है, नहीं तो फिर से जल-जमाव जैसी समस्याओं से क्षेत्रवासियों को परेशान होना पड़ेगा।

विभिन्न आयोजनों से निर्माण कार्य पर लगा ब्रेक
निर्माण कार्य में जुटे कामगारों ने बताया कि नाला निर्माण कार्य जैसे ही विश्वकर्मा मंदिर के समीप पहुंचा तो वहां तकरीबन 10-15 दिनों तक आयोजनों के चलते काम रुक गया। इसके बाद शनि मंदिर तक निर्माण कार्य स्पीड से चला। लेकिन सिंधी समाज की धर्मशाला के पास एक के बाद एक आयोजनों के चलते वहां डेढ़ महीने तक काम ठप रहा। पुन: शुरू हुआ कार्य अब पोखरना फैक्ट्री तक पहुंच गया है, अब कोई तकनीकी दिक्कत नहीं आई तो काम रफ्तार पकड़ सकता है।

इन क्षेत्रों का पानी आएगा इस नाले में
ब्यावर रोड, प्राज्ञ कॉलेज, प्राज्ञ स्कूल, बलवीर कॉलोनी, नगर पालिका परिसर, नारायण स्कूल, समूचा नाड़ी मोहल्ला, रोडवेज बस स्टैंड, सिंधी कॉलोनी आदि क्षेत्रों का पानी इस नाले में शामिल होकर शास्त्री कॉलोनी वाले नाले में शामिल होकर शिखरानी रोड स्थित एनीकट में पहुंचेगा।

इनका कहना है
बस स्टैंड होते हुए शास्त्रीनगर पुलिया तक के नवीन नाले निर्माण का कुछ हद तक निर्माण कार्य पूरा हुआ है, सिंधी कॉलोनी क्षेत्र में निर्माण कार्य अधूरा पड़ा है। साथ ही शनि मंदिर के सामने से सथाना बाजार तक का भी नाला निर्माण शेष है। हमारा प्रयास यही रहेगा कि मानसून से पूर्व उक्त नालों का निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाए, ताकि उक्त क्षेत्रों में जल-जमाव जैसी समस्या न हो।
अनिता मेवाड़ा, पालिकाध्यक्ष, बिजयनगर

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar