जनता की जय हो…

बिजयनगर के 19 में से 11 मतदान केन्द्रों पर भाजपा तथा 8 पर कांग्रेस की बढ़त के भी कई मायने निहित हैं। इस लोकसभा क्षेत्र के अन्य मतदान केन्द्रों पर कांग्रेस का मतदान का प्रतिशत अधिक रहा वहीं बिजयनगर में कांटे की टक्कर रही। स्पष्ट है कि शेष जगहों चुनावी बयार कांग्रेस की ओर बह रही थी तब बिजयनगर में इस बयार का रुख कमोबेश दोतरफा था।
– जय एस. चौहान –
यूं तो राजस्थान में लोकसभा के दो तथा विधानसभा की एक सीट के उपचुनाव हुए हैं। तीनों सीटों पर कांग्रेस का परचम लहराया है। हम यहां सिर्फ अजमेर लोकसभा क्षेत्र के मसूदा विधानसभा क्षेत्र के बिजयनगर के बनते-बिगड़ते राजनीतिक समीकरण की पड़ताल कर रहे हैं।

अजमेर लोकसभा उपचुनाव में जनता ने अपना फैसला सुना दिया है। जनता ने चुनावी रणभूमि में सियासी बिसात पर मतदान का बटन दबाकर कईयों के समीकरण बिगाड़ दिए तो कई के संवार भी दिए। जनता ने लगे हाथ ‘वसीहत’ को खारिज कर दरबारियों को ‘नसीहत’ भी दे दी।

वादों और चेहरे को भी खारिज कर दिया। इसी कॉलम में खारीतट संदेश ने पिछले अंक में स्पष्ट उल्लेख किया था कि भारतीय जनता पार्टी ने प्रो. सांवरलाल जाट के निधन पर उनके पुत्र को टिकट दे तो दिया है लेकिन जनता का मुहर लगना अभी बाकी है।

भाजपा ने रामस्वरूप लाम्बा को टिकट देकर कई समीकरण साधने की कोशिश की। इधर, जनता ने भी अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। निसंदेह जनता के इस फैसले का राजनीतिक बिसात पर दूर तक ही नहीं देर तक असर पड़ेगा।

कम से कम इस वर्ष होने वाले विधानसभा व अगामी लोकसभा चुनाव में इसका असर तो दिखेगा ही। इसी तरह बिजयनगर के 19 में से 11 मतदान केन्द्रों पर भाजपा तथा 8 पर कांग्रेस की बढ़त के भी कई मायने निहित हैं।

इस लोकसभा क्षेत्र के अन्य मतदान केन्द्रों पर कांग्रेस का मतदान का प्रतिशत अधिक रहा वहीं बिजयनगर में कांटे की टक्कर रही। स्पष्ट है कि शेष जगहों चुनावी बयार कांग्रेस की ओर बह रही थी तब बिजयनगर में इस बयार का रुख कमोबेश दोतरफा था।

निश्चित ही यहां स्थानीय फैक्टर पर भी लोगों ने मतदान किया। नगर पालिका के कामकाज का मूल्यांकन कर भी लोगों ने यहां मतदान किया। यदि स्थानीय नगर पालिका का कामकाज बेहतर होता तो कांग्रेस का प्रतिशत और बढ़ सकता था। संकेत यही है कि ‘ये जो पब्लिक है, सब जानती है…।’ जनता की जय हो…।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar