सामाजिक सरोकार वाला बजट

गुलाबपुर नगर पालिका अध्यक्ष धनराज गुर्जर ने अपने बजट में सामाजिक सरोकार और लोक-लुभावने स्कीम को काफी तवज्जो दी है। निश्चित ही इसकी प्रशंसा की जानी चाहिए। पेयजल, बिजली, बीपीएल और बुजुर्गों के लिए नि:शुल्क तीर्थयात्रा से सराबोर धनराज का यह बजट ‘धन्यवाद’ के काबिल है।
– जय एस. चौहान –
पखवाड़े भर में केन्द्र व राजस्थान सरकार ने क्रमश: संसद व विधानसभा में बजट पारित किए। दोनों बजटों पर कयास व आकलन का दौर अभी थमा नहीं है। उन कयासों व आकलन से इतर हम सिर्फ यहां की स्थानीय सरकार यानी कि गुलाबपुरा नगर पालिका बोर्ड बैठक में पारित बजट पर चर्चा कर रहे हैं।

गुलाबपुर नगर पालिका अध्यक्ष धनराज गुर्जर ने अपने बजट में सामाजिक सरोकार और लोक-लुभावने स्कीम को काफी तवज्जो दी है। निश्चित ही इसकी प्रशंसा की जानी चाहिए। पेयजल, बिजली, बीपीएल और बुजुर्गों के लिए नि:शुल्क तीर्थयात्रा से सराबोर धनराज का यह बजट ‘धन्यवाद’ के काबिल है।

इरादे नेक और ‘लक्ष्य’ बहुत ‘बड़ा’ हो तो राजनीतिक सरजमीं तैयार करने के लिए कुछ इसी तरह के बजट बनाए जाते रहे हैं। सियासी हुनर का यही तकाजा है, इस पर किसी को एतराज नहीं होना चाहिए। लेकिन करीब 58 करोड़ के पारित इस बजट में किस मद में कितना खर्च किया जाएगा, इसका स्पष्ट उल्लेख नहीं किया गया है।

सवाल यह है कि जब सामाजिक सरोकार पर अधिक व्यय किए जाएंगे तो विकास कार्यों पर इसका प्रतिकूल असर तो नहीं पड़ेगा? पालिका अध्यक्ष गुर्जर से उम्मीद की जाती है कि सामाजिक सरोकार की कीमत पर विकास कार्य कतई बाधित नहीं होंगे।

भरोसा किया जा सकता है कि विकास कार्य अनवरत रूप से जारी रहेंगे। खासकर, बारिश के दिनों में जलजमाव व गर्मी के दिनों में पेयजल समस्या के स्थाई समाधान पर विशेष जोर
देना होगा।

कहते हैं देखा-देखी पुण्य। उम्मीद है बिजयनगर नगर पालिका अध्यक्ष सचिन सांखला भी कुछ इसी तरह के सामाजिक सरोकार व लोकलुभावन बजट का पिटारा खोलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar