पीएनबी घोटाला : आईसीएआई ने गठित किया उच्च स्तरीय समूह

चेन्नई। (वार्ता) इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) ने सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक में मुंबई के ज्वैलर नीरव मोदी द्वारा 11,400 करोड़ रुपये से ज्यादा की अनियमितताअों का अध्ययन करने के लिए उच्च स्तरीय समूह का गठन किया है जो सुधारात्मक कदमों की सिफारिश भी करेगा।

आईसीएआई ने आज एक बयान जारी कर कहा कि पीएनबी में हुए 11,400 करोड़ रुपये के अनियमित लेनदेन की विभिन्न मीडिया रिपोर्टाें ने संस्थान का ध्यान इस ओर खींचा है। इसमें कथित रूप से ज्वैलर नीरव मोदी ने पीएनबी की मुंबई शाखा से गलत तरीके से सहमति पत्र (एलओयू) हासिल किया।

पीएनबी घोटाले से जुड़ी अनियमितताओं और पेचीदगियों को देखते हुए आईसीएआई इसमें विनियामक की भूमिका निभायेगा और संबंधित बैंक, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) और सीबीआई से इस मामले में उनकी रिपोर्टों को भेजे जाने का आग्रह किया है।

विज्ञप्ति में कहा गया कि आईसीएआई ने स्वयं इस मामले में उच्च स्तरीय समूह का गठन किया है जो बैंकिंग प्रणाली में सुधार और इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए निवारक एवं उपचारात्मक कदमों का सुझाव देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar