स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल आपको बना सकता है इन पाँच बीमारियों का शिकार

खारीतट सन्देश। आजकल के इस मार्डेन लाइफस्टाइल में स्मार्टफोन लोगों की सबसे बड़ी जरूरत बन गया है। स्मार्टफोन के लिए तो लोग खाना-पीना भी भूल जाते है। इसके जरिए लोगों को दुनियाभर की जानकारी घर बैठे तो मिल जाती है लेकिन इसका ज्यादा इस्तेमाल स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डाल रहा है। आजकल बड़ों से लेकर बच्चों तक के पास स्मार्टफोन होता है, जिसे वो सारा दिन इस्तेमाल करते रहते है। मगर क्या आप जानते है इसका ज्यादा इस्तेमाल करने से आप गंभीर बीमारियों का शिकार हो सकते है। आज हम आपको स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से होने वाली ऐसी ही कुछ बीमारियों के बारे में बताएंगे, जोकि आपके लिए घातक भी हो सकती है। तो चलिए जानते है इसके इस्तेमाल से होने वाली बीमारियां।

1. कैंसर और दिल के रोग
स्मार्टफोन में से निकलने वाले खतरनाक रेडियेशन के कारण आप कैंसर और दिल के रोगों का शिकार हो सकते है। इसके अलावा इन रेडियेशन के कारण हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ जाता है। एक शौध के मुताबिक स्मार्टफोन के अविष्कार के समय से हार्ट से संबंधित बीमारियां भी बढ़ती जा रही है।

2. अंधापन
इसकी तेज रोशनी वाली स्क्रीन और तकनीक आपकी आंखों की रोशनी के लिए खतरनाक हो सकती है। इसकी आइरिस अधिक होने और फॉन्ट साईज के कारण लगातार इसका इस्तेमाल आपको धीरे-धीरे अंधा कर सकता है। इसके शुरूआत में आंखों के चारो तरफ गोल दाने और पानी बहने जैसे लक्षण दिखाई देते है।

3. बहरापन
आजकल हर कोई स्मार्टफोन में लाउड म्यूजिक सुनना पसंद करता है लेकिन तेज आवाज में गाने सुनने से कानों के पर्दे कमजोर होकर फट जाते है। इससे आपको सुनना बंद हो जाता है।

4. चिड़चिड़ापन
लोगों को आज के समय में स्मार्टफोन से इतना प्यार है कि वो परिवार के साथ समय ही नहीं बिताते। इसके स्मैर्टपोन इस्तेमाल करते समय उन्हें कोई दूसरा काम कहा जाए तो उन्हें गुस्सा आ जाता है। धीरे-धीरे यह आपकी आदत बन जाती है और आपका स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है।

5. नपुंसकता
इससे निकलने वाली रेडियेशन पुरुष के टेस्टिस और ऑक्सीटोसिन हार्मोन को डैमेज कर देती है, जोकि नपुंसकता का कारण बनते है। इसके अलावा स्मार्टफोन से निकलने वाले रेडियशन महिलाओ में यूरेनरी इंफेक्शन और गर्भाशय कैंसर का भी मुख्य कारण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar