महिला दिवस पर टोल केंद्रों में महिलाओं की होगी तैनाती

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस आठ मार्च को भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) प्रत्येक राज्य और संघ शासित प्रदेश में नगरों के निकट स्थित कम से कम एक टोल केंद्र में शुल्क संग्रहण के लिए महिलाओं की तैनाती करेगा। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने आज यहां बताया कि इन टोल केंद्रों के सभी कर्मी महिलाएं होंगी।

यदि यह प्रयोग सफल रहता है तो अगले तीन महीनों में सभी टोल केंद्रों में यह व्यवस्था लागू की जाएगी। इस संबंध में क्षेत्रीय कार्यालयों को सूचना दे दी गई है। टोल केंद्रों की स्थिति में सुधार करने तथा एक प्रतिस्पर्धा युक्त माहौल बनाने के लिए एनएचएआई सभी टोल केंद्रों की श्रेणी तैयार करेगा।

इसके लिए फास्ट टैग लेन का उपयोग करते हुए टोल प्लाजा को पार करने में लगा समय, रोड मार्शलों की तैनाती, फास्ट टैग विक्रय केंद्र की सुविधा, फास्ट टैग सूचना बोर्ड, टोल केंद्र कर्मियों का व्यवहार, टोल केंद्र मैनेजर की उपलब्धता, सूचनाएं प्रदर्शित करने वाले साइनबोर्ड, स्वच्छता, राजमार्ग का इस्तेमाल करने वालों का अनुभव, महिला, पुरुष और दिव्यांगजनों के लिए स्वच्छ शौचालय की उपलब्धता, राजमार्ग के किनारे की हरित पट्टी का रखरखाव आदि को आधार बनाया जाएगा।

एनएचएआई के अध्यक्ष दीपक कुमार ने सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को निर्देश जारी किया है कि वे प्रत्येक टोल केंद्र में फास्ट टैग लेन की उपलब्धता सुनिश्चित करें। इस लेन से केवल ऐसे वाहन जाने चाहिए जिन पर फास्ट टैग चिपका हुआ हो। इस व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए रोड मार्शलों का उपयोग किया जाना चाहिए।

एनएचएआई सभी टोल केंद्रों पर थोड़े समय के लिए पार्किंग के निर्माण की योजना बना रहा है। इसके अतिरिक्त इन केंद्रों पर कूड़ेदान, शौचालय, पेय जल एटीएम, चाय-काफी की मशीन, खाने-पीने के पैकेट, रिकवरी वैन की उपलब्धता, निगरानी वाहन और एंबुलेंस आदि भी उपलब्ध होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar