उत्तर पूर्व के तीनों राज्यों में रुझानों में भाजपा मजबूत

नई दिल्ली। नॉर्थईस्ट के तीन राज्यों त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय में पिछले दिनों हुए मतदान के बाद आज सुबह 8 से मतगणना जारी है। शुरुआती रुझानों को देखें को तीनों ही राज्यों में भाजपा बेहद मजबूत होकर उभरी है। त्रिपुरा में जहां भाजपा और लेफ्ट के बीच कड़ी टक्कर नजर आ रही है वहीं नगालैंड में भाजपा मजबूत बनकर सामने आई है और 23 सीटों पर आगे चल रही है। मेघालय की बात करें तो राज्य में कांग्रेस आगे है जबकि भाजपा दूसरे नंबर पर नजर आ रही है।

मतगणना जारी है और दिन चढ़ने के साथ-साथ आने वाले नतीजों में चुनाव में खड़े हुए 857 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला हो जाएग। त्रिपुरा में 18 फरवरी, मेघालय और नागालैंड में 27 फरवरी को मतदान हुआ था। मतदान के बाद आए एग्जिट पोल्स की मानें तो तीनों राज्यों में भाजपा पहले से मजबूत होगी।

त्रिपुरा में जहां इस बार 91 प्रतिशत मतदान हुआ है। मेघालय और नागालैंड में क्रमश: 67 और 75 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा की 59 सीटों के मतदान हुआ है। यहां 372 उम्मीदवार मैदान में हैं। नागालैंड में 60 सदस्यीय विधानसभा में 59 सीटों के लिए हुए चुनाव में 193 उम्मीदवार और त्रिपुरा के 60 विधानसभा सीट के लिए हुए चुनाव में 292 उम्मीदवार मैदान में है।

60 सदस्यों वाली नगालैंड विधानसभा में 193 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जिनमें से केवल पांच महिलाएं हैं बात करें अगर नगालैंड के चुनावी इतिहास कि तो नागालैंड के पहले राज्य विधानसभा चुनावों में राज्य को 46 सीट आवंटित थीं जिसमें 40 निर्वाचन क्षेत्रों के लिए चुनाव हुए। टयूएनसांग जिला को अपनी 6 सीटों को आवंटित किया गया था, इसके क्षेत्रीय परिषद द्वारा चुने गए सदस्यों द्वारा भरे जाने के लिए दूसरे विधानसभा चुनावों में निर्वाचन क्षेत्रों की संख्या 52 हो गई।

अंत में 1974 में तीसरे विधानसभा चुनाव में, निर्वाचन क्षेत्रों की संख्या 60 हो गई, जो कि राज्य विधानसभा के निचले सदन की वर्तमान ताकत है। नागलैंड की 60 विधान सभा सीटों में से 59 अनुसूचित जनजाति से संबंधित उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं जिसमें से सिर्फ एक सीट पर जरनल कैंडिडेट चुनाव लड़ रहा है तो वहीं बाकि बची सभी सीटों पर अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवार हैं।

त्रिपुरा
वहीं 60 विधानसभा वाले त्रिपुरा की 59 सीटों पर वोटिंग हुई है। सीपीएम प्रत्याशी रामेंद्र नारायण के निधन के कारण चारीलाम विधानसभा सीट पर अब 12 मार्च को मतदान होगा। इस बार 23 महिलाओं सहित कुल 292 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। वाममोर्चा के गढ़ त्रिपुरा में इस बार सत्तारूढ़ वाममोर्चा को भाजपा से कड़ी चुनौती मिल रही है।

मेघालय
मेघालय में 60 सदस्यीय विधानसभा के लिए कुल 372 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर है। कांग्रेस जहां सभी 59 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, वहीं एनपीपी 52, भाजपा 47, पीपल डेमोक्रेटिक फ्रंट 26, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी 21, यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी 13, हिल स्टेट पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी 13 और दूसरी पार्टियां चुनावी मैदान में हैं। इस चुनाव में 85 निर्दलीय और 33 महिला प्रत्याशी भी अपनी किस्मत आजमा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar