ब्यावर में निकाली परम्परागत बादशाह की सवारी

अजमेर। राजस्थान में अजमेर जिले के ब्यावर शहर में परंपरागत बादशाह की सवारी निकाली गई। बादशाह मेला महोत्सव समिति की ओर से होली के अगले दिन निकाले जाने वाली यह सवारी सांप्रदायिक सौहार्द के लिए अपनी पहचान रखती है जिसे शान.ओ.शौकत एवं परंपरागत तरीके से निकाली गई।

शहर में जहां से सवारी निकली वहां गुलाल नजर आने लगा। बादशाह अकबर के जमाने में उनके वित्त मंत्री टोडरमल को ढाई दिन की बादशाहत तोहफे के तौर पर मिली थी। उस समय टोडरमल ने शहर में अशरफिया बांटकर जनता का दिल जीता था।

बदलते युग में अशरफियो का स्थान गुलाल ने ले लिया और आज भी ब्यावर के आसपास के लोग परंपरागत सवारी में भाग लेने आते हैं और इस दौरान उड़ाई गई गुलाल की पुड़िया को अपने घर की तिजोरी में रखते हैं। ऐसा माना जाता है इससे परिवार में बरक्कत बनी रहती है। सवारी के मद्देनजर उपखंड कार्यालय पर नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar