‘अध्यक्ष जी, आप पार्षदों की सुनते भी हैं या नहीं?

  • Devendra
  • 01/11/2017
  • Comments Off on ‘अध्यक्ष जी, आप पार्षदों की सुनते भी हैं या नहीं?

कांग्रेस की महिला पार्षद का आरोप

बिजयनगर नगरपालिका की साधारण सभा : पक्ष-विपक्ष के पार्षदों के निशाने पर रहे पालिकाध्यक्ष सांखला

बिजयनगर खारीतट सन्देश पालिका के सभागार में सोमवार को नगर पालिका अध्यक्ष सचिन सांखला की अध्यक्षता में साधारण बैठक हुई। इसमें विभिन्न निर्माण कार्यों में कोताही और गुणवत्ता को लेकर पालिकाध्यक्ष सचिन सांखला पक्ष-विपक्ष के पार्षदों के निशाने पर रहे। पार्षदों ने विभिन्न निर्माण कार्यों में घटिया सामग्री के इस्तेमाल के आरोप लगाए और जांच की मांग की। बहस में भाग लेने वाले पार्षदों ने आरोप लगाया कि ठेकेदार लॉबी पालिका प्रशासन पर हावी हो रही है जो शहर के विकास के लिए किसी भी कीमत पर उचित नहीं है।
विकास कार्यों पर चर्चा और स्वच्छ भारत सर्वेक्षण 2018 की चर्चा को लेकर आयोजित पालिका की साधारण सभा के आरम्भ में नवनियुक्त सहवरण सदस्य नरेन्द्र बाफणा का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया।
इसके बाद भाजपा पार्षद जगदीशसिंह राठौड़ ने बहस में भाग लेते हुए पालिका प्रशासन पर विभिन्न निर्माण कार्यों के टेण्डर में मनमर्जी का आरोप लगाते हुए कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता व पारदर्शिता के लिए विभिन्न निर्माण कार्यों के ठेकों के टेण्डर ऑनलाईन प्रक्रिया से लिए जाने चाहिए। इसी बीच सदन में मौजूद पार्षदों ने पालिका के जेईएन की अनुपस्थिति पर नाराजगी जताई। कांग्रेस के पार्षद राजेश मुणोत ने सदन में मांग की कि पीपली चौराहे से स्टेशन तक बनी सड़क के बजट में से शेष राशि का इस्तेमाल स्टेशन से बालाजी मंदिर तक के सड़क निर्माण कार्य में किया जाए।
सहवरण सदस्य ललित शर्मा ने कहा कि कमला फैक्ट्री के अंदर सड़क का दायरा पहले से ही कम है, इसके बावजूद वहां पर भारी वाहन बेरोक-टोक आ-जा रहे हैं। इन पर अंकुश लगाने की मांग की। इस पर पालिकाध्यक्ष ने शर्मा को आश्वस्त किया कि उनकी मांग उचित है और शीघ्र ही सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक कमला फैक्ट्री मुख्य मार्ग सहित बाजार में भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने की कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
कांग्रेस की महिला पार्षद उषा कलवानी ने आरोप लगाया कि पालिका प्रशासन की उदासीन रवैये के चलते पालिकाकर्मी गम्भीर लापरवाही बरत रहे हैं। उन्होंने कहा कि निर्माण स्वीकृति और नामांतरण के आवेदन करने वाले आवेदकों को पालिका के कर्मी संतोषपूर्ण जवाब नहीं देकर उन्हें बार-बार चक्कर काटने पर मजबूर कर रहे हैं। इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
कांग्रेस के पार्षद भवानीशंकर राव ने पालिकाध्यक्ष सांखला पर उन्हीं के पार्टी के पार्षदों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके वार्ड संख्या १९ में सुलभ शौचालय, नाला निर्माण व अन्य कार्यों के टेण्डर इसी साल मार्च में निकाले थे, लेकिन धरातल पर आज दिन तक कोई काम नहीं हुआ। साथ ही उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि पार्षदों को पालिका प्रशासन की ओर से यह भी जानकारी नहीं दी जाती है कि कौन सा कार्य किया जा रहा है। ऐसे में हम जनता को क्या मुंह दिखाएंगे।
कांग्रेस की पार्षद संजू शर्मा ने भी राव के सुर में सुर मिलाते हुए पालिकाध्यक्ष पर आरोप लगाया कि वे उनकी अनदेखी कर रहे हैं। शर्मा ने कहा कि उन्होंनें काफी समय पहले चौसला क्षेत्र में शिखरानी चौराहे पर गन्दे पानी निकासी समस्या से पालिका प्रशासन को अवगत करवाया लेकिन समस्या आज तक जस की तस है। इस पर सांखला ने जब कोई प्रतिक्रिया नहीं दी तो शर्मा ने झल्लाते हुए पालिकाध्यक्ष से कहा, ‘अध्यक्ष जी, आप पार्षदों की सुनते भी हैं या नहीं? इसके बाद शर्मा ने पालिकाध्यक्ष को उनके क्षेत्र की राधाकिशन कॉलोनी में व्याप्त पेयजल समस्या के निस्तारण के लिए जलदाय विभाग के एईएन से बात करने की मांग की। इस पर पालिकाध्यक्ष सांखला तैश में आ गए और उन्होंनें शर्मा की ओर मुखातिब होते हुए कहा कि वे सदन की कार्यवाही के बीच अलग-अलग पार्षदों की मांग पर अधिकारियों से बातचीत करना मुनासिब नहीं समझते।
सदन में पार्षद संजय शर्मा ने मांग की कि शहर में राजकीय महाविद्यालय खोले जाने के लिए नगरपालिका की ओर से जमीन आवंटन का मसौदा तैयार कर राज्य सरकार को भेजा जाए। उनकी मांग पर सदन में मौजूद सभी पार्षदों ने सहमति जताई। इस पर पालिकाध्यक्ष सांखला ने सदन को आश्वस्त किया कि उनकी भावनाओं का सम्मान करते हुए यह प्रस्ताव राज्य सरकार को नगर पालिका की ओर से शीध्र ही भेज दिया जाएगा।
सदन में मौजूद पार्षदों ने इन दिनों प्रदेश में फैल रहे डेंगू व स्वाईन फ्लू की रोक पर चिंता जताते हुए फोङ्क्षगग कराने की मांग की। इस पर पालिका उपाध्यक्ष सहदेवसिंह कुशवाह ने पार्षदों को आश्वस्त किया कि शीध्र ही मच्छरों की रोकथाम के लिए फोगिंग करवा दी जाएगी।
इतने हावी हैं ठेकेदार
साधारण सभा की बैठक में पार्षद उषा कलवानी, भवानीशंकर राव, संजू शर्मा, संजय शर्मा सहित अन्य पार्षदों ने पालिका प्रशासन पर दोहरे मापदण्ड अपनाने का आरोप लगाया। पार्षदों का कहना था कि पालिका प्रशासन जहां ठेकेदारों को विशेष तवज्जो दे रहा है। वहीं पार्षदों की अनदेखी कर रहा है। इसके चलते हालात यह हो गए हैं कि वार्डों में होने वाले निर्माण कार्यों की गुणवत्ता को लेकर पार्षदों की राय को पालिका प्रशासन तवज्जो नहीं दे रहा है। इस पर पालिकाध्यक्ष सांखला ने पार्षदों को आश्वस्त किया कि भविष्य में शहर के वार्डों में होने वाले निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच के लिए पार्षदों की एक कमेटी का गठन शीघ्र ही कर दिया जाएगा।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar